केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज मणिपुर के मोइरांग में 1311 करोड़ रुपये की 21 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया

0
18

श्री अमित शाह ने चूड़ाचांदपुर में 46 करोड़ रूपए की लागत वाले मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन और 39 करोड़ की लागत वाली 122 फ़ुट ऊंची मार्जिंग पोलो प्रतिमा का अनावरण किया

गृह मंत्री ने मोइरांग स्थित ऐतिहासिक आज़ाद हिंद फ़ौज मुख्यालय पर 165 फुट ऊंचे तिरंगे का भी अनावरण किया, जो पूरे नॉर्थईस्ट में सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज है

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और मणिपुर के मुख्यमंत्री श्री एन. बीरेन सिंह के नेतृत्व में आज मणिपुर आतंकवाद, बंद और ब्लॉकेड से पूर्णतया मुक्त होकर विकास, शांति और खुशहाली के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है

मोदी जी ने लुक ईस्ट की जगह एक्ट ईस्ट की पालिसी को अपनाकर एक समृद्ध नार्थईस्ट बनाने की दिशा में काम किया, अनेक समझौते हों या AFSPA को हटाना मोदी जी के नेतृत्व में नार्थईस्ट शांत और सुरक्षित बन रहा है

पिछले 8 सालों में मोदी सरकार ने 3.45 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा का निवेश कर नॉर्थईस्ट को विकास, कनेक्टिविटी, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्पोर्ट्स, इन्वेस्टमेंट और ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर का हब बनाया है

मोदी जी ने नॉर्थईस्ट को रेलवे और हवाई मार्ग से जोड़ने के साथ ही पूर्वोत्तर को पूरे देश के दिल से जोड़ने का काम भी किया है।

मणिपुर की एन बीरेन सिंह जी की सरकार ने अंग्रेजों की गोलाबारी में टूटे घरों को सहेज कर आजाद हिन्द फौज के शहीदों का स्मारक बनवाया, यह पूरे देश के लिए एक बहुत बड़ा पर्यटनस्थल बनेगा

चूड़ाचांदपुर मेडिकल कॉलेज में आज 100 बच्चे मेडिकल साइंस की पढ़ाई कर रहे हैं, पहले नॉर्थईस्ट के बच्चों को पढ़ने के लिए बड़े शहरों में जाना पड़ता था, आज भारत के कई राज्यों के बच्चे यहां पढ़ रहे हैं, यह बहुत बड़ी उपलब्धि है

मणिपुर को खेलों का हब बनाने के लिए 816 करोड़ रूपए की लागत से देश की पहली स्पोर्ट यूनिवर्सिटी मणिपुर में बनाई जा रही है

मणिपुर सरकार द्वारा अफीम की खेती को ड्रोन से आईडेंटिफाई कर नष्ट किया गया है और राज्य में अफीम की खेती को खत्म कर मणिपुर को ड्रगमुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार कटिबद्ध है

नई दिल्ली (IMNB). केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज मणिपुर के मोइरांग में लगभग 1311 करोड़ रुपये की 21 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। इनमें 46 करोड़ रुपये की लागत से बना चूड़ाचांदपुर मेडिकल कॉलेज, 39 करोड़ रुपये की लागत से बनी मार्जिंग पोलो प्रतिमा, संगाईथेल में मणिपुर ओलंपियन पार्क, इम्फाल-पूर्व में मणिपुर एग्जिबिशन सेंटर, राज्य के 5 जिलों में डिस्ट्रिक्ट यूथ स्किलिंग एंड एम्प्लॉयमेंट सेंटर, फ्रूट प्रिजर्वेशन फैक्टरी, नीलाकुथी आदि शामिल हैं। श्री अमित शाह ने मोइरांग स्थित ऐतिहासिक आज़ाद हिंद फ़ौज मुख्यालय पर 165 फुट ऊंचे तिरंगे का भी अनावरण किया, जो पूरे नॉर्थईस्ट में सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज है। इस मौके पर मणिपुर के मुख्यमंत्री श्री एन. बीरेन सिंह सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

अपने संबोधन में श्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और मणिपुर के मुख्यमंत्री श्री एन. बीरेन सिंह के नेतृत्व में आज मणिपुर आतंकवाद, बंद और ब्लॉकेड आदि से पूर्णतया मुक्त होकर विकास, शांति और खुशहाली के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है और इसी का परिणाम है कि पिछले साल 6 जनवरी को मणिपुर में 2450 करोड़ रुपए लागत की 29 परियोजनाओं की आधारशिला रखी गयी थी और आज 1300 करोड़ रुपए से अधिक की 21 परियोजनाओं  का उद्घाटन हुआ और आधारशिला रखी गई।

केंद्रीय गृह मंत्री ने बहुमुखी प्रतिभा के धनी राजा श्री भाग्यचंद्र, रानीमां, महाराज कुलचंद्र और पुखोतिनथांग को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि मणिपुर का भव्य इतिहास 3000 साल से भी पुराना है। उन्होंने कहा कि मणिपुर की जनता ने महाराजा कुलचंद्र को अंग्रेजों के खिलाफ पूर्ण सहयोग देकर मणिपुर को अंग्रेजों के चुंगल से स्वतंत्र करने में सहायता की। मणिपुर के इस भव्य इतिहास से देश को अवगत कराने के लिए सरकार ने माउंट हैरियट, जहां महाराजा कुलचंद्र के महामंत्री, युवराज और 22 स्वतंत्रता सेनानियों को कैद किया गया था, का नाम बदलकर माउंट मणिपुर कर दिया है। श्री शाह ने कहा कि मणिपुर के मोइरांग में आज नॉर्थईस्ट का सबसे ऊंचा झंडा फहराया गया है जहां भारत की भूमि सबसे पहले आजाद हुई थी।

 

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस के नेतृत्व में INA (आइएनए) ने अंग्रेजों के खिलाफ युद्ध किया और इसी के परिणामस्वरूप मणिपुर अंग्रेजों के चंगुल से आजाद हुआ। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने अंग्रेजों की गोलाबारी में टूटे घरों को सहेज कर यहां आइएनए के शहीदों का स्मारक बनवाया जो मणिपुर के युवाओं को देश के लिए जीने का संदेश तो देगा ही साथ ही यह स्थान एक बहुत बड़ा टूरिस्ट स्पॉट भी बनेगा।

श्री अमित शाह ने कहा कि लगभग 46 करोड़ की लागत से बने चूड़ाचांदपुर मेडिकल कॉलेज में आज 100 बच्चे मेडिकल साइंस की पढ़ाई कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले जहां नॉर्थईस्ट के बच्चों को बेंगलुरु, दिल्ली, मुंबई और अहमदाबाद जैसे बड़े शहरों में पढ़ने के लिए जाना पड़ता था वहीं आज भारत के कई राज्यों के बच्चे मोइरांग में पढ़ रहे हैं, जो एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि आज यहां 122 फुट ऊंची मार्जिंग पोलो प्रतिमा का उद्घाटन हुआ है, पोलो की जन्मस्थली माने जाने वाले मणिपुर पर मणिपुर सेंट्रल यूनिवर्सिटी और मणिपुर यूनिवर्सिटी को रिसर्च कर दुनिया को बताना चाहिए कि मणिपुर ने ही विश्व को पोलो की भेंट दी है। श्री शाह ने कहा कि यह स्थान दुनियाभर के पोलोप्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनेगा।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले 8 सालों में 51 बार नॉर्थईस्ट का दौरा किया और अपनी संवेदनशीलता, कर्मठता से नॉर्थईस्ट को एहसास दिलाया है कि पूरे भारत को नॉर्थईस्ट पर गर्व है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में पूर्वोत्तर में रोड, रेल और एयर कनेक्टिविटी बढ़ाकर उत्तर-पूर्व को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि पिछले 8 सालों में मोदी सरकार ने सरकार ने 3.45 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश कर नॉर्थईस्ट को उग्रवाद, घुसपैठ, बंद, ड्रग, आर्म्स ट्रैफिकिंग, भ्रष्टाचार और जातीय झगड़ों की जगह विकास, कनेक्टिविटी, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्पोर्ट्स, इन्वेस्टमेंट और ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर का हब बनाया है। श्री शाह ने कहा कि मोदी जी ने नॉर्थईस्ट को रेलवे और हवाई मार्ग से जोड़ने के साथ ही पूर्वोत्तर को पूरे देश के दिल से जोड़ने का काम भी किया है। सरकार ने 2019 में बोडो समझौता, एनएलएफटी समझौता, कार्बी-आंगलोंग समझौता, ब्रू समझौता किया और पूरे नॉर्थईस्ट को उग्रवाद से मुक्त कराया। साथ ही सरकार ने उग्रवाद समाप्त कर मणिपुर के 6 जिलों से AFSPA हटा दिया, जिसके परिणामस्वरुप पहले ब्लॉकेड पर निर्भर मणिपुर आज आत्मनिर्भर मणिपुर की यात्रा पर विकास की ओर चल पड़ा है।

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने लुक ईस्ट की जगह एक्ट ईस्ट की पॉलिसी अपनाई जिससे आज मणिपुर आशा और स्थिरता का प्रतीक बना है। उन्होंने कहा कि मणिपुर को खेलों का हब बनाने के लिए 816 करोड़ रूपए की लागत से 325 एकड़ में फैली देश की पहली स्पोर्ट यूनिवर्सिटी मणिपुर में बनाई जा रही है और मुख्यमंत्री श्री एन बीरेन सिंह जी द्वारा बनवाया गया ओलंपियन पार्क भी मणिपुर के सभी युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेगा।

श्री अमित शाह ने कहा कि पहाड़ी जिलों में 31 जनजातीय संग्रहालयों का निर्माण किया जा रहा है और स्वास्थ्य विकास के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत लगभग 3.63 लाख लाभार्थियों को 5 लाख तक का स्वास्थ्य खर्च मुफ्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि यहां 17 स्थानों पर 130 करोड़ रुपए की लागत से इमा मार्केट बनाया गया है जो महिलाओं के सशक्तिकरण का काम कर रहा है। श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मणिपुर में 68000 घर दिए गये हैं तो वहीं राज्य सरकार ने 110 करोड़ रुपए की लागत से हज़ारों स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने का काम किया है। चीफ मिनिस्टर हैल्थ फॉर ऑल योजना के तहत प्रमुख 13 बीमारियों की घर-घर जाकर जांच की गई है। उन्होंने कहा कि मणिपुर सरकार द्वारा लगभग 1780 एकड़ भूमि पर अफीम की खेती को ड्रोन से आईडेंटिफाई करके नष्ट कर दिया गया है। श्री शाह ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के वर्ष में मोदी जी के नेतृत्व में भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने ड्रग्स मुक्त इंडिया का संकल्प लिया है जिससे आजादी के शताब्दी वर्ष में भारत ड्रग्स की समस्या से पूरी तरह से मुक्त होगा। उन्होंने कहा कि सरकार यहां अफीम की खेती को खत्म करके मणिपुर को ड्रग्स फ्री राज्य बनाने के लिए कटिबद्ध है और मणिपुर को शिक्षा, स्पोर्टस् और स्टार्टअप के क्षेत्र में आगे बढ़ाकर विकसित और समृद्ध राज्य बनाने की दिशा में काम करती रहेगी।

*****

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here