पुलिस अधीक्षक ने की साल भर के अपराधों की समीक्षा।

0
21

*कोंडागांव जिले में 2021 की तुलना में 2022 में गंभीर अपराधों में हुई कमी।*

* *दूरस्थ नक्सल प्रभावित क्षेत्र कुएंमारी, पुंगारपाल एवं कुदुर में 03 नए पुलिस कैंप खोलने से नक्सल घटनाओं में आई कमी।*

* *वर्ष के दौरान 2360 किलोग्राम अवैध गांजा जप्त कर तस्करों को भेजा गया जेल।*

* *यातायात जागरूकता अभियान से सड़क दुर्घटनाओं से मृत्यु में आई कमी।*

* *वर्ष के दौरान 62 गुम बालक बालिकाओं में पुलिस ने 59 को किया सकुशल बरामद।*

* *चंदन तस्करी पर बड़ी कार्रवाई करते हुए तस्करो से 02 करोड़ कीमती 985 किलोग्राम चंदन की लकड़ी की गई जप्त।*

वर्ष 2022 में कोंडागांव पुलिस द्वारा अलग अलग अपराधो के कुल 976 मामले दर्ज किए गए। वर्ष 2021 में हत्या के कुल 19 मामले दर्ज किए गए थे एवं वर्ष *2022 में हत्या के 18 मामले* दर्ज किए गए। इसी प्रकार वर्ष 2021 में हत्या के प्रयास के 11 मामले दर्ज किए गए थे एवं वर्ष *2022 में हत्या के प्रयास के 07 मामले* दर्ज किए गए। वर्ष 2021 में लूट के 03 मामले दर्ज किए गए थे एवं वर्ष *2022 में सिर्फ 1 मामला* दर्ज किया गए। बलात्कार के प्रकरण में वर्ष 2021 में 59 मामले दर्ज किए गए थे एवं *2022 में 42 मामले* दर्ज किए गए। कोंडागांव पुलिस द्वारा गंभीर अपराधों पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जा रही है, एवं महिला व बच्चो से सम्बन्धित अपराधों के प्रति जागरुकता आभियान चलाया जा रहा है, जिस वजह से वर्ष 2021 की तुलना में वर्ष 2022 में गंभीर अपराधों में कमी आई है।

कोंडागांव जिला नक्सल प्रभावित जिला है जिसमें वर्ष 2021 में 7 नक्सल प्रकरण दर्ज किए गए थे एवं वर्ष *2022 में 3 नक्सल प्रकरण* दर्ज किए गए इस प्रकार नक्सल घटनाओं में भी कमी आई है, इस दौरान आम जनता की सुरक्षा के लिए कोंडागांव पुलिस द्वारा वर्ष 2022 में *दूरस्थ नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कुल 3 नए पुलिस कैंप* स्थापित किए गए। जिसमें केशकाल थाना अंतर्गत *कुएंमारी* कैंप, थाना मर्दापाल अंतर्गत *पुंगारपाल* कैंप जिसमें थाना की भी शुरुआत की गई एवं पुंगारपाल थाना के अंतर्गत *कुदुर* में पुलिस कैंप खोला गया। इस तरह नए कैंप खोले जाने से क्षेत्र की जनता खुश हुई एवं नक्सल घटनाओं में भी कमी आई है।

कोंडागांव जिले से नेशनल हाईवे की लगभग 90 किलोमीटर सड़क गुजरती है जिसमें सड़क दुर्घटनाएं भी बड़ी संख्या में होती है। वर्ष 2021 में 169 सड़क दुर्घटनाओं से मृत्यू हुई थी एवं वर्ष 2022 में सड़क दुर्घटना से 161 मृत्यु हुई। इस दौरान कोंडागांव पुलिस द्वारा सड़क दुर्घटना रोकने हेतु लगातार यातायात जागरूकता अभियान चलाया जा रहा। आम लोगों को जागरूक किया गया कि यातायात नियमों का पालन करें। अधिकतर दो पहिया वाहन चालकों की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो रही है। जिसमें हेलमेट ना पहनने की वजह से दुर्घटना में जोखिम बढ़ जाती है कोंडागांव पुलिस जिले की जनता से अपील करती है कि हमेशा *हेलमेट पहनकर ही दोपहिया वाहन चलाएं* एवं *चार पहिया वाहन में सीट बेल्ट का उपयोग* करें।

एनडीपीएस के प्रकरण में कोंडागांव पुलिस द्वारा *वर्ष 2022 में कुल 2360 किलोग्राम गांजा जप्त* किया गया। जो वर्ष 2021 के 1250 किलोग्राम की जब्ती की तुलना से बहुत ज्यादा है। कोंडागांव पुलिस द्वारा गांजा की तस्करी रोकने हेतु लगातार प्रयास किया जा रहा है, जिसमें जिले में थाना कोंडागांव एवं थाना अनंतपुर के अंतर्गत *2 नए स्पेशल चेकपोस्ट* बनाए गए हैं। जहां पुलिस द्वारा 24 घंटे संदिग्ध वाहनों की चेकिंग की जाती है

अवैध तस्करी के प्रकरण में कोंडागांव पुलिस ने वर्ष 2022 के दौरान कीमती चंदन लकड़ी की तस्करी पर भी बड़ी कार्यवाही करते हुए *लगभग 2 करोड़ कीमती 985 किलोग्राम चंदन की लकड़ी* जप्त कर तस्करों को जेल भेजा गया।

अवैध शराब के प्रकरणों में 2021 में कुल 156 लीटर अवैध शराब जप्त किए गए थे एवं वर्ष *2022 में कुल 250 लीटर अवैध शराब* जप्त किया गया। इस तरह पुलिस द्वारा अपराधियों के विरुद्ध लगातार कड़ी कार्रवाई की जा रही है जिससे आम जनता में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है।

गुम बालक बालिका के प्रकरणों में वर्ष 2022 में जिले के कुल 62 बालक बालिकाएं गुम हुए। जिसमें आईपीसी की धारा 363 366 के अंतर्गत अपराध दर्ज किए गए एवं कोंडागांव पुलिस द्वारा *59 गुम बालक बालिकाओं को सकुशल बरामद* कर उनके परिजन को सौंपा गया है एवं 3 गुम बालक बालिका की बरामदगी बाकी है, जिनकी पता तलाश जारी है बहुत जल्द उनको भी सकुशल बरामद कर उनके परिवार के सुपुर्द किया जाएगा। इस दौरान दिसंबर माह में ऑपरेशन मुस्कान चलाकर बड़ी संख्या में गुम बालक बालिकाओं को बरामद किया गया है

गुम मोबाईल के प्रकरणों में वर्ष 2022 के दौरान कोंडागांव पुलिस द्वारा कुल *377 मोबाइल* ढूंढ कर पृथक पृथक 04 बार विशेष समारोह आयोजित कर प्रार्थियो को लौटाए गए।

इस तरह वर्ष 2022 के दौरान कोंडागांव पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल (भापुसे) के आदेश से एडिशनल एसपी श्री शोभराज अग्रवाल के मार्गदर्शन व एसडीओपी फरसगांव श्री अनिल विश्वकर्मा, उप पुलिस अधीक्षक डॉक्टर भुवनेश्वरी पैकरा, डीएसपी सुश्री लितेश सिंह, एसडीओपी केशकाल श्री भूपत धनेश्री, एसडीओपी कोंडागांव श्री निमीतेश सिंह, डीएसपी नक्सल ऑपरेशन श्री सतीष भार्गव, डीएसपी बस्तर फाइटर श्री लक्ष्मण पोटाई, डीएसपी बस्तर फाइटर श्री रुपेश कुमार एवं डीएसपी अजाक श्री के.पी. मरकाम के पर्यवेक्षण में जिले के समस्त थाना/चौकी प्रभारी की भूमिका सराहनीय रही। वर्ष 2021 की तुलना में 2022 में गंभीर अपराधों में आई कमी और अन्य अपराधों में अधिक से अधिक गिरफ्तारी और अपराध निकाल पर *पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को बधाई दी गई।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here