महाराणा प्रताप के शहस्त्र वर्षों का धर्म युद्ध सर्व समाज के उत्थान हेतु था जो वर्तमान में भी प्रासंगिक है – *प्रबल प्रताप सिंह जूदेव*

Today36garh

रायपुर :राजधानी रायपुर वृंदावन हाल में महाराणा प्रताप के पुस्तक विमोचन से सभी सनातनी और युवाओं में हर्ष और उल्लास की लहर दौड़ गई है सुदूर ग्रामीण अंचल के भी युवा सोशल मीडिया पर प्रबल प्रताप जी को अपने आभार व्यक्त कर रहे हैं गौरतलब है कि प्रबल प्रताप सिंह जूदेव राष्ट्रीय स्तर पर युवा वर्ग के सबसे चहेते नेता के रूप में उभर कर सामने आ रहे हैं।

8 अगस्त को महाराणा प्रताप के जीवन वृतांत को धर्म युद्ध से परिभाषित करती श्री ओमेंद्र रत्नू जी की पुस्तक महाराणा सहस्त्र वर्षों के धर्म युद्ध का विमोचन कार्यक्रम में ओमेंद्र जी का मार्गदर्शन  में घर वापसी स्वाभिमानी सूर्य प्रबल प्रताप सिंह जूदेव जी रायगढ़ नरेश देवेंद्र प्रताप जी अंबागढ़ के राजा संजीव शाह जी मरवाही के राजा उपेंद्र बहादुर जी विधायक भोजराज नागजी पूर्व भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष कारगिल युद्ध विजय दादा जी हिंदू विचारक संतोष तिवारी जी के आतिथ्य में संपन्न हुआ।

क्षत्रिय कुल शिरोमणि प्रबल प्रताप जी ने विमोचन के अवसर पर हुंकार भरी और संदेश दिया कि
महाराणा प्रताप का धर्म युद्ध भूत भविष्य और वर्तमान तीनों कालों में प्रासंगिक है यदि सभी वर्ग और समाज के उत्थान के लिए था आज हम हिंदू है स्वतंत्र है नमन उन वीरो को जिन्होंने अन्याय व अधर्म के विरुद्ध लड़ते – लड़ते अपना सर्वस्व अर्पण कर दिया। उन सभी हुतात्माओ के चरणों मे कोटि कोटि नमन हम सभी उनके वंशज हैं और मैं *प्रबल प्रताप सिंह जूदेव महाराणा प्रताप के बलिदान और त्याग की सौगंध खाकर कहता हूं कि*
सनातन संस्कृति धर्म पर विधार्मियो के द्वारा समय-समय पर जो हमला हो रहा है, लव जिहाद ,धर्म परिवर्तन, हिंदू धर्म की प्रतिष्ठा को धूमिल करना हमारे देवी देवताओं पर उंगली उठाना अब यह सब तनिक भी सहन नहीं किया जाएगा सनातन धर्म और संस्कृति की रक्षा और उत्थान को समर्पित घर वापसी अभियान के अग्रणी जूदेव जी के उद्बोधन ने सभी युवाओं में एक नया जोश और उत्साह भर दिया..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here