माओवादी इंटरस्टेट कॉरिडोर में तेलंगाना -छत्तीसगढ़ पुलिस का धावा … तीन हार्डकोर माओवादी ढेर , हथियार बरामद … संगठन कमजोर पड़ने का पुलिस ने किया दावा …

Today36garh

रायपुर / बस्तर :माओवादियों के केंद्रीय रीजनल कमांड से संबद्ध तीन माओवादियों को तेलंगाना की ग्रेहाउंड और छत्तीसगढ़ पुलिस के स्पेषल फोर्स के जवानों ने ज्वाइंट ऑपरेषन में मार गिराया हैं। सोमवार को यह संयुक्त ऑपरेषन छत्तीसगढ़ के बीजापुर और पड़ोसी राज्य तेलंगाना के सीमावर्ती इलाके में चलाया गया था। बीजापुर एसपी कमलोचन कष्यप के मुताबिक ज्वाइंट ऑपरेषन में और भी नक्सली हताहत हुए हैं। उनकी स्थिति का पता लगाने मुठभेड़ इलाके में बड़े स्तर पर सर्चिंग ऑपरेषन चलाया जा रहा है।

ग्रेहाउंडस के साथ छत्तीसगढ़ पुलिस का यह ज्वाइंट ऑपरेषन लम्बे समयंतराल के बाद चलाया गया था। हार्डकोर नक्सलियों की सटीक सूचना पर ऑपरेषन प्लान किया गया था, जिसके बाद रविवार-सोमवार की दरम्यानी दो राज्यों की फोर्स को लोकेषन पर उतारा गया था। मिली जानकारी अनुसार 25 अक्टूबर की सुबह जवान नक्सलियों के लोकेषन पर सर्चिंग पर थे, इसी दौरान माओवादियों की तरफ से पहले गोलीबारी की गई। जबाव में ज्वाइंट फोर्स की तरफ से गोलिबारी की गई।

दोनों तरफ से ताबड़तोड़ गोलीबारी के बाद जवानों को हावी होता देख नक्सली मौके से भाग खड़े हुए। जिसके बाद इलाके की सर्चिंग में तीन पुरूष वर्दीधारी माओवादियों के शव मौके से बरामद किए गए। इनके पास से एक एसएलआर , एलएमजी और एक 47 हथियार समेत विस्फोटक व अन्य रोजमर्रा के सामान बरामद किए गए। बताया गया है कि ऑपरेषन के बाद भाग खड़े हुए माओवादियों की तलाष में एटुरनगरम, वजीडु, पेरूर, वेंकटपुरम थाना अंतर्गत घने जंगल में बड़ा सर्च ऑपरेषन चलाया गया है।

नक्सलियों का बफर जोन पड़ा कमजोर
तेलंगाना-छत्तीसगढ़ सीमा पर अंतरराज्यीय ऑपरेषन की बदलौत नक्सलियों का बफर जोन कहे जाने वाला यह समूचा इलाका अब नक्सलियों की पकड़ से छूटता जा रहा है। एसपी कमलोचन कष्यप का कहना है कि तेलंगाना के माओवाद प्रभावित इलाकों में माओवाद की पकड़ पहले ही कमजोर पड़ चुकी है। चूंकि हार्डकोर माओवादियों का कनेक्षन तेलंगाना से है, लिहाजा इंटरस्टेट बार्डर पर उनकी मौजूदगी मजबूरी है, बावजूद सुरक्षा बलों के लगातार बढ़ते दबाव के चलते माओवादियों की पकड़ से यह इलाका भी छूटता जा रहा है।
हिड़मा की सरगर्मी से तलाश
बीते एक सप्ताह से दुर्दांत माओवादी हिड़मा के बीमार होने की खबर ने ना सिर्फ छत्तीसगढ़ बल्कि तेलंगाना पुलिस के कान भी खड़े कर दिए हैं। हिड़मा के अस्वस्थ्य होने और इलाज के लिए तेलंगाना में होने की खबरें आ रही है, ऐसे में दोनों राज्यों की पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाष कर रही है। हालांकि पुलिस को अब तक कोई ठोस इनपुट नहीं मिल पाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here