Chhattisgarh : उड़ते पंजाब की सियासत के बीच सीएम इन वेटिंग टीएस सिंह देव् भी उड़े दिल्ली; फिर बढ़ा सियासी तापमान

Today36garh

रायपुर : पंजाब में हुए सियासी घटनाक्रम के बाद छत्तीसगढ़ को लेकर भी रह-रह कर तरह तरह की अफवाहें उड़ रही हैं। इन सबके बीच बाबा का बार-बार दिल्ली जाना विरोधियों में बेचैनी और संशय पैदा कर रहा है। पता चला है कि आज फीर से छत्तीसगढ़ के भावी मुख्यमंत्री पद के शपथग्रहण के इंतजार कर रहे टीएस सिंहदेव फिर से दिल्ली के लिए एक बार उड़ान भर कर विरोध खेमें में हलचल, और बेचैनी, के साथ टेंशन पैदा कर दिए हैं ।

अभी दो दिन पहले ही वह एक दिन के दौरे पर 17 सितंबर 2021 को दिल्ली गये हुए थे। बाबा के समर्थक पिछले एक महीने से खुशखबरी की इंतजार में बैठे हुए हैं।
छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस की राजनीति धीरे-धीरे दो खेमों में बटती जा रही है। भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव ने मिलकर अजीत जोगी के जिस सियासी जाल से छत्तीसगढ़ से कांग्रेस पार्टी को निकाला था। अब वह विरोधी खेमे की ओर से फिर दुहराने की तैयारी की जा रही है।

मजेदार बात यह है कि अबकी बार इस सियासी भंवर के जिम्मेदार वही बनने जा रहे हैं जिसने जोगी जी की जमकर खिलाफत किया था और उसी के चलते जोगी ने पार्टी से स्तीफा देकर नया पार्टी बनाया था। इसी के चलते उस भंवर से कांग्रेस बाहर निकला था।

बात को स्पष्ट किया जाये तो टीएस सिंहदेव हर हाल में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बनने की तैयारी में हैं। उन्होंने पिछले दिनों खुद इस बात को स्वीकार भी किया था ,कि हाईकमान और राहुल गांधी जी ने प्रदेश में ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री कमिटमेंट के फार्मूले को सुझाया था।

इस फार्मूले के तहत पहले ढाई साल तक भूपेश बघेल मुख्यमंत्री रहेंगेऔर शेष ढाई वर्ष के लिए टीएस सिंहदेव को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।अब भूपेश बघेल का ढाई वर्ष का कार्यकाल पूरा हो चुका है। और कमिटमेंट के अनुसार अभी तक इमानदारी से उन्हें तत्काल मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए था परन्तु उन्होंने ऐसा नहीं किया और उल्टा हाईकमान को आंख दिखाते हुए शक्ति प्रदर्शन करने में लग गए हैं।इसी दिसंबर माह में उनका तीन साल का कार्यकाल होने जा रहा है।अब बाबा की छटपटाहट बढ़ते जा रही है जो स्वाभाविक भी है।टीएस बाबा दबे मन से तो यह कहते हैं कि हाईकमान से बात पूरी हो गयी है। बस हाईकमान का निर्णय और आदेश का इंतजार है।

समय आने पर फैसला कर दिया जाएगा।

पर फैसला में हो रही देरी, और कब आयेगा लगता है इसे लेकर बाबा की भी आकुलता बढ़ गयी है।यहां बाबा का आशय छत्तीसगढ़ के भावी मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव जी से है।पिछले करीब दो माह से बाबा लगातार दिल्ली दौरे पर रहते आ रहे हैं।इसके पीछे की वजह हर बार वह कुछ अलग-अलग बताते रहते हैं।पर उनके दिल्ली दौरे पर जाते ही छत्तीसगढ़ में सियासी तापमान ,पारा और विरोधियों की टेंशन एकदम बढ़ जाता है।अब बाबा फिर आज सुबह दिल्ली के लिए उड़ान भर चुके हैं।

इस कार्यक्रम की जानकारी मिलते ही एक बार फिर से बदलाव ,स्तिफे की चर्चाओं को लेकर दौर तेज हो गया है।अब देखना यह है की शाम रात तक नया क्या देखने और सुनने को मिलता है इंतजार?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here