CRICKET : 35 साल बाद इंग्लैण्ड में एक सीरीज में 2 मैच जीत टीम इंडिया 2-1 से आगे : ओवल में भारतीय प्रशंसकों ने जीत पर मनाया शानदार जश्न ,देखिये जश्न की वीडियो

Today36garh

ओवल में जीत पर भारतीयों के जश्न का वीडियो

Todayखेल डेस्क : भारत और इंग्लैंड के बीच केनिंग्टन ओवल में खेला गया चौथा टेस्ट टीम इंडिया ने 157 रन से जीत लिया है । मैच में इंग्लैंड के सामने 368 रनों का टारगेट था , लेकिन 210 रन पर पूरी टीम ढेर हो गई और भारत ने मुकाबला जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बनाई । 50 साल बाद भारतीय टीम ओवल के मैदान पर कोई टेस्ट मैच जीतने में सफल रही । मैच का स्कोर बोर्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें मैच में टीम इंडिया के गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला ।

टीम की यादगार जीत में उमेश यादव ने 3 , जबकि जसप्रीत बुमराह , शार्दूल ठाकुर और रवींद्र जडेजा ने दो – दो विकेट चटकाए ।

इंग्लैंड को मध्यक्रम ने किया निराश

एक समय इंग्लैंड मजबूत स्थिति में नजर आ रहा था । ऐसा लग भी रहा था कि शायद टीम मैच ड्रॉ कराने में सफल रहेगी लेकिन ऐसा देखने को नहीं मिला । मध्यक्रम में टीम का एक भी खिलाड़ी विकेट पर खड़े रहने का साहस नहीं दिखा सका । इंग्लैंड ने 52 रनों के भीतर एक के बाद एक अपने 6 विकेट गंवाए । यहां से भारतीय गेंदबाजों ने इंग्लैंड को वापसी का मौका नहीं दिया और शानदार जीत दर्ज की।

बुमराह के 100 विकेट पूरे

जसप्रीत बुमराह भारत के लिए सबसे तेज 100 टेस्ट विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज बन गए हैं । बुमराह ने सिर्फ 24 मैचों में यह रिकॉर्ड अपने नाम किया । उनसे पहले भारत के लिए सबसे तेज 100 विकेट लेने का रिकॉर्ड बतौर तेज गेंदबाज कपिल देव ( 25 ) के नाम पर दर्ज था । कपिल के बाद इरफान पठान ( 28 ) , मोहम्मद शमी ( 29 ) और जवागल श्रीनाथ ( 30 ) के नाम आते हैं । बुमराह ने ओली पोप ( 2 ) को आउट कर यह रिकॉर्ड बनाया । पोप के विकेट के बाद उन्होंने अपने अगले ही ओवर में जॉनी बेयरस्टो ( 0 ) को क्लीन बोल्ड कर भारत को पांचवीं सफलता दिलाई । जडेजा ने मोइन अली को शून्य पर पवेलियन भेज इंग्लैंड की कमर तोड़कर दी । इसके बाद जो रूट ने पारी को संभालने का काम किया , लेकिन शार्दूल ठाकुर ने उनको आउट कर भारत की जीत लगभग तय कर दी।

ओवल में 1902 में हुआ था सफल चेज

ओवल के मैदान पर आखिरी बार सबसे सफल चेज साल 1902 में देखने को मिला था । उस समय ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड के सामने 263 रनों का टारगेट रखा था , जिसे इंग्लैंड ने 9 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया था । उसके बाद 1963 में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड के सामने 253 रनों का लक्ष्य रखा था , जिसे मेजबान ने सिर्फ 2 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया था । इस बार इंग्लैंड से एक बड़े करिश्मे की उम्मीद जताई जा रही थी , लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका । पिछले 10 मैचों में इंग्लैंड की चौथी हार ओवल में पिछले 10 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड की यह चौथी हार रही । ये चार मुकाबले मेजबान टीम ने साउथ अफ्रीका , पाकिस्तान , ऑस्ट्रेलिया और भारत के खिलाफ गंवाए । साथ ही पिछले चार मैचों में इंग्लैंड को पहली बार इस मैदान पर हार का सामना करना पड़ा था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here