ख़ौफ : अफगानिस्तान छोड़ने के लिए क़ाबुल एयरपोर्ट पर लड़कियों की ज़बरन शादी करवाई गई !

Today36garh

एजेंसी :  15 अगस्त को काबुल पर तालिबानी कब्जे के बाद अफगानिस्तान छोड़ने की होड़ मच गई. लोग किसी भी तरह देश छोड़कर दुनिया के किसी भी कोने में जाने को तैयार थे. जो किसी वजह से देश छोड़ कर जाने में अभी तक सफल नहीं हो पाए हैं, वो अभी भी कोशिश में लगे हैं. अफगानिस्तान से जाने के लिए लोग किस हद तक गए आप सोच भी नहीं सकते, खासतौर पर अफगानिस्तान छोड़ने वालों में सबसे बेबस महिलाएं दिखाईं दे रही थीं।

अवाम पर खौफ 

तालिबान राज का अफगानिस्तान अवाम पर खौफ को आप इससे समझ सकते हैं कि अफगानिस्तान से कई महिला हस्तियां भी तालिबान के आने के बाद विदेश जा चुकी हैं. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल और वहां के एयरपोर्ट से हाल के दिनों में कई सनसनीखेज खबरें आईं. एयरपोर्ट पर ब्लास्ट हुआ. अमेरिकी सेना समेत कई खबरों से आप वाकिफ होंगे. तस्वीरों के जरिए आपने देखा होगा कि कैसे मासूमों को दीवार पार कराया जा रहा था, लेकिन जो खबरें अब आ रही हैं वो आपको अंदर तक झंकझोर देंगी.

काबुल एयरपोर्ट पर अफगान लड़कियों का जबरन कराया जा रहा निकाह

खबर आ रही है कि काबुल एयरपोर्ट पर अफगान लड़कियों का जबरन निकाह कराया जा रहा था. ये निकाह कोई और नहीं लड़की के परिवार वालों ने खुद अपनी बेटियों को बाहर भेजने के लिए बाहर के लोगों के साथ करा रहे थे. ऐसी खबरें आ रही हैं कि लड़कियों के अभिभावक अपनी बच्चियों को तालिबान से बचाने के लिए जबरन शादी कराकर बाहर भेज रहे थे. ये शादी उन लोगों से कराई जा रही थी, जिन्होंने इन लड़कियों को अफगानिस्तान छोड़ने में मदद करने का वादा किया ताकि किसी भी तरह उनकी लड़कियां-बेटियां तालिबान के क्रूर शासन की भेंट न चढ़ सकें.

दुनिया के सामने ये खबर तब आ रही है जब विदेशों में अफगानी रिफ्यूजी के प्रोसेसिंग करने वाले बाइडेन प्रशासन के अधिकारी ने विदेश विभाग को आगाह किया. अमेरिकी अधिकारियों ने विदेश विभाग को आगाह करते हुए कहा कि तालिबान से बचने के लिए महिलाओं और लड़कियों को जबरन शादी कराने के लिए बाध्य किया जा रहा था, या फिर विदेशी पुरुषों को अपना पति बताकर विदेश जाने के लिए खुद को एलिजिबल बताया जा रहा था.

अफगानिस्तान से बाहर निकालने के बदले लिए हजारों डॉलर

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यूएई में निकासी सेंटर्स में से एक सेंटर में रहने वाली कुछ अफगान महिलाओं और लड़कियों ने बताया है कि उनके परिवारों ने उन्हें काबुल एयरपोर्ट के बाहर जबरन शादी कराई थी ताकि वो अफगानिस्तान से बाहर जा सकें और तालिबान की जाल में नहीं फंसें. इन महिलाओं ने आगे खुलासा करते हुए कहा कि शादी के बदले या लड़कियों-महिलाओं को अफगानिस्तान से बाहर निकालने के बदले विदेशी पुरुषों ने उनके परिवार से हजारों डॉलर लिए.

एयरपोर्ट पर जबरन शादी की खबर आने के बाद यूएई में अमेरिकी दूतावास ने कहा है कि वो केंद्र में काम करने वालों को मानव तस्करी के संभावित पीड़ितों की पहचान करने के लिए मार्गदर्शन देंगे. बहरहाल इन घटनाओं के मायने को समझना होगा. अफगानिस्तान से कई लेखक, फिल्म स्टार, पॉप स्टार, गायक या फिर हर वो बड़ी महिला हस्तियां देश छोड़ चुकी हैं, जो किसी न किसी क्षेत्र में अपने काम को लेकर जानी जाती थीं. तालिबान के डर से महिला फुटबॉल खिलाड़ियों ने अफगानिस्तान छोड़ा. महिला फुटबॉल की 75 खिलाड़ियों को लेकर एक जहाज काबुल से ऑस्ट्रेलिया गया था. महिला रोबोटिक टीम की 5 सदस्य मॉस्को चली गईं.

अफगान एयरफोर्स की महिला पायलट निलोफर रहमानी ने देश छोड़ा

वहीं अफगान एयरफोर्स की महिला पायलट निलोफर रहमानी ने देश छोड़ दिया. निलोफर रहमानी अब खुलेआम सामने आकर तालिबान के खिलाफ आवाज उठा रही हैं. कान्स की अवॉर्ड विनिंग डायरेक्टर शहरबानो सादत ने अफगानिस्तान छोड़ दिया है. फ्रांस सरकार की मदद से शहरबानो सादत परिवार के 9 सदस्यों के साथ यूरोप चली गईं. अफगानिस्तान की मशहूर पॉप स्टार अरयाना सईद काबुल छोड़ चुकी हैंय इसके अलावा भी कई नामचीन महिलाएं हैं, जिन्हे तालिबान के डर से देश छोड़ना पड़ा. देश छोड़ने वाली महिलाओं में कई तो अफगान सरकार में सांसद भी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here