Tokyo Olympic:मैडल जितने वाले जाँबाज भारतीय खिलाड़ियों पर ईनामों की बौछार

Today36garh

टोक्यो ओलंपिक: खेल महांकुभ में भारत के खाते में अबतक 5 मेडल आ चुके हैं, जिसमें से 3 ब्रॉन्ज और 2 सिल्वर है। सबसे पहले वेटलिफटिंग में मीराबाई चानू ने देश की झोली में सिल्वर मेडल डाला दूसरा सिल्वर मेडल रेसलिंग में रवि दहिया ने जीता। पीवी सिंधू, भारतीय पुरुष हॉकी टीम और लवलीना बोरगोहेन ने ब्रॉन्ज मेडल जीता है। इन खिलाड़ियों को देशभर से जमकर बधाई मिल रही है। इसके साथ ही इनामों की भी जमकर बरसात हो रही है।  राज्य और केंद्र सरकार की ओर से इन खिलाड़ियों को क्या क्या मिला इनाम मे जानिए-

मीराबाई चानू

वेटलिफटिंग में देश को सिल्वर मेडल दिलाने वाली मीराबाई चानू को मणिपुर सरकार ने जीत के बाद इनामी राशि की घोषणा करते हुए 1 करोड़ रुपए का एलान किया था इसके साथ ही उन्हें मणिपुर सरकार ने ASP बनाया है।

केंद्र सरकार की ओर से चानू को 50 लाख रुपए दिए जाएंगे।

रवि दहिया

रेसलिंग में सिल्वर मेडल जीतने वाले रवि दहिया को हरियाणा सरकार चार करोड़ रुपए कैश देगी। मनोहर लाल खट्टर ने इस इनामी राशि की घोषणा की थी। इसके साथ ही उन्हें क्लास वन अधिकारी की भी नौकरी दी जाएगी और प्लॉट पर 50 फीसदी छूट भी मिलेगा। उनके गांव में हरियाणा सरकार आधुनिक सुविधाओं से लैस एक इंडोर रेसलिंग स्टेडियम भी बनवाने की घोषणा की है। केंद्र की ओर से रवि दहिया को 50 लाख रुपए मिलेंगे।

पीवी सिंधू

बैडमिंटन में देश को ब्रॉन्ज मिला है, लगातार दूसरे ओलंपिक में बैडमिंटन में देश के खाते में मेडल डालने वाली पीवी सिधूं को आंध्र प्रदेश सरकार ने 30 लाख रुपए कैश देने का ऐलान किया है, भारतीय ओलंपिक संग की ओर से 25 लाख रुपए दिए जाएंगे। इसके साथ ही केंद्र सरकार की ओर से सिंधू को 30 लाख रुपए मिलेंगे।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम

भारतीय पुरुषों ने हॉकी में 1980 के बाद देश को पहला मेडल दिलाया। पंजाब सरकार ने हॉकी में ब्रॉन्ज जीतने वाले हर खिलाड़ी को 1-1 करोड़ रुपए इनाम देने का एलान किया तो हरियाणा ने हर खिलाड़ी के लिए ढाई-ढाई करोड़ देने की घोषणा की है।

इसके साथ ही हरियाणा ब्रॉन्ज जीते अपने राज्य के हर खिलाड़ी को खेल विभाग में नौकरी और कंसेशनल रेट पर प्लॉट देने का भी ऐलान किया है। इसके साथ ही रेलवे ने ब्रॉन्ज जीतने वाले अपने हर खिलाड़ी को 1-1 करोड़ रुपए देने का एलान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here