“अगर मैं भी अंतिम प्रयास से पीछे हट जाऊं तो क्या GOLD हम दोनों के बीच साझा किया जा सकता है?”-और जीत गई इंसानियत और खेल भावना दोनों

Today36garh

02July2021

स्पोर्ट्स डेस्क/टोक्यो ओलिम्पिक

टोक्यो ओलंपिक में पुरुषों की ऊंची कूद के फाइनल में इटली के Gianmarco Tamberi का सामना कतर के Mutaz Essa Barshim से था। दोनों ने 2.37 मीटर की छलांग लगाई और बराबरी पर रहे ! ओलंपिक अधिकारियों ने उनमें से प्रत्येक को तीन-तीन अतिरिक्त प्रयास के अवसर दिए, लेकिन वे दोनों ही 2.37 मीटर से अधिक ऊंचाई की छलांग नहीं लगा पाए।

इसके बाद उन दोनों को एक अंतिम प्रयास और दिया गया, लेकिन Tamberi के पैर में गंभीर चोट के कारण, उन्होंने स्वयं को अंतिम प्रयास से अलग कर लिया। उस समय जब Barshim के सामने कोई दूसरा प्रतिद्वंदी नहीं था, तब वेआसानी से अकेले GOLD विजेता बन सकते थे!

 

जीत गई इंसानियत और स्पोर्ट्समेनशिप दोनों:

लेकिन बर्शिम ने अधिकारी से पूछा, “अगर मैं भी अंतिम प्रयास से पीछे हट जाऊं तो क्या GOLD हम दोनों के बीच साझा किया जा सकता है?” आधिकारी जाँच के बाद पुष्टि करते हुए कहते हैं “हाँ तो GOLD मैडल और प्रथम स्थान आप दोनों के बीच साझा किया जाएगा”। बर्शिम ने बिना एक पल गंवाए अंतिम प्रयास से हटने की घोषणा कर दी। यह देख इटली का प्रतिद्वन्दी ताम्बरी दौड़ा और बरसीम को गले लगाने के बाद चीख-चीख कर रोने लगा !

बर्शिम ने भले ही गोल्ड मैडल साझा कर लिया हो लेकिन इंसानियत के तौर पे वे बहुत आगे निकल गए और इस खेल की दुनिया में अपना नाम अमर कर लिया।

यह दृश्य हमारे दिलों को छूने वाला और अद्भुत खेल भावना प्रकट करने वाला है जो धर्मों, रंगों और सीमाओं को बहुत बौना बना देता है, सौहार्द और आपसी साहचर्य ही मानवता की कसौटी है!!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here