कॅरोना की उत्पत्ति का जनक चाइना:अमेरिकन एजेंसी का सनसनीखेज खुलासा

03अगस्त2021

Today36garh:  अमेरिकी रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से जारी की गई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की लैब से कोरोना के लीक होने के ढेर सारे सबूत मौजूद हैं. रिपोर्ट का कहना है कि न सिर्फ ये वायरस वुहान लैब से लीक हुआ बल्कि चीनी वैज्ञानिकों ने इंसानों को संक्रमित करने के लिए इस वायरस को मोडिफाई भी किया.कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर एक अमेरिकी रिपोर्ट में आज यह सनसनीखेज खुलासा किया गया है.

बीते मई महीने में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अमेरिकी खुफिया एजेंसियों से कोविड-19 महामारी की उत्पत्ति की जांच के अपने प्रयासों को ‘दोगुना’ करने के लिए कहा था. उन्होंने कहा था कि यह निष्कर्ष निकालने के लिए अपर्याप्त सबूत हैं कि ‘क्या यह किसी संक्रमित जानवर के साथ मानव संपर्क से उभरा है या प्रयोगशाला में हुई दुर्घटना से उभरा है.’

बाइडन ने एक बयान में कहा था, ‘अधिकांश खुफिया समुदाय को यह नहीं लगता है कि इसका आकलन करने के लिए पर्याप्त जानकारी है कि किसकी संभावना अधिक है.’ उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं को जांच में सहायता करने का निर्देश दिया था और चीन से महामारी की उत्पत्ति को लेकर अंतरराष्ट्रीय जांच में सहयोग करने का आह्वान किया. बाइडन ने अमेरिकी खुफिया एजेंसियों से 90 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने को कहा था. उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं को जांच में सहायता करने का निर्देश दिया और चीन से महामारी की उत्पत्ति में अंतरराष्ट्रीय जांच में सहयोग करने का आह्वान किया था.

सीनियर रिपब्लिकन नेता माइक मैक्कॉल ने कोरोना की उत्पत्ति की निष्पक्ष जांच की मांग की है. हालांकि रिपब्लिकन पार्टी का ये निष्कर्ष अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों से अलग है. अभी अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियां कोरोना की उत्पत्ति को लेकर किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची हैं.

चीन इन आरोपों का लगातार करता रहा है विरोध
बता दें कि चीन लगातार इन आरोपों का विरोध करता रहा है. निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कोरोना को चीनी वायरस कहे जाने पर चीन की तरफ से जोरदार आपत्ति दर्ज कराई गई थी. यहां तक कि चीन ने कोरोना को लेकर अमेरिका पर कई आरोप लगाए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here