*औद्योगिकरण के विरोध में  जशपुर राजघराना.

*औद्योगिकरण के विरोध में  जशपुर

*इको फ्रैंडली प्रोजेक्ट लाइये मैं पैर धोकर आपका स्वागत करूंगा : प्रबल प्रताप सिंह जूदेव

By:Today36garh News

27July 2021/Update News

रायपुर/जशपुर:जशपुर जिले के कांसाबेल में स्थापित होने वाले कुदरगढ़ी स्टील प्लांट के विरोध में जशपुर राजघराना शासन -प्रशासन को लगातार विरोध की चेतावनी दे रहा है,इस तारतम्य में प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने औधोगिक कम्पनियों को लक्ष्य बनाकर कहा है कि-
गिद्ध की नजर हमेशा लाश पर रहती है उसे जिंदा बस्ती पसंद नहीं!”

उन्होंने कहा कि जशपुर जिला पहले से ही 52 प्रतिशत जंगल से घिरा है यहां खेती की जमीन की कमी है सदियों से अपने रंग में रह रहे वन वासियों ने क्षेत्र को बहुत संभाल कर रखा है अब उधोगपतियों की मंशा जशपुर का औधोगिकरण कर इसे आदिवासियों,जंगल और जमीन से दूर करने की है।
रायगढ़ अब हाल बेहाल:

रायगढ़ जैसे उपजाऊ जिले को तो पहले ही ये उधोगपति खोखला कर चुके हैं ,पर याद रहे जशपुर क्षेत्र स्व.दिलीप सिंह जूदेव की धरती है ,उनका संकल्प हमारा संकल्प है। जशपुर के वनवासियों और उनकी जमीन की रक्षा का जो वचन उन्होंने दिया था वह हमारी प्रतिबद्धता है।

पर्यावरण से खिलवाड़ बर्दास्त नहीं:

प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने कहा कि अपने जीते जी उसका अक्षरशः पालन करेंगे।और वनवासियों के जल,जंगल,जमीन पर जो भी गिद्ध दृष्टि डालेगा उनका हम पुरज़ोर विरोध करते रहेंगे।उन्होंने कहा कि सबकुछ जानते हुए भी जो दलाल चंद रुपयों की खातिर अपना जमीर बेच दिए उन्हें भी सबक सिखाया जाएगा। वक्त का इंतेजार करें।आप इको फ्रेंडली प्रोजेक्ट लाइये मैं पैर धोकर आपका स्वागत करूंगा परंतु पर्यावरण से खिलवाड़ बर्दास्त नहीं।

जशपुर जिले के कसाबेल में स्थापित होने वाले कुदरगढ़ी स्टील प्लांट को लेकर इनके पूर्व में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय द्वारा गठित जांच समिति द्वारा टाँगर गांव और पड़ोसी गांव में सहमति का सर्वे किया था परंतु सभी नतीजे विरोध में रहे क्योंकि पड़ोसी जिले में जहाँ उद्योग हैं वहां की स्थिति क्या है ग्रामीण जान चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here