राज्य में 2 अगस्त से खुलेंगे शिक्षण संस्थान … 50 %उपस्थिति पर सहमति

*अल्टरनेट डेज पर भौतिक उपस्थिति पर सहमति..

*पालकों की सहमति भी जरूरी..
*केबिनेट ने लिया फैसला.

रायपुर/20जुलाई2021 आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में मुख्यमंन्त्री निवास कार्यालय पर कैबिनेट की 38वीं बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में कई प्रमुख फैसले लिए गए। इसमें सबसे प्रमुख फैसला स्कूल और महाविद्यालय खोलने को लेकर लिया गया है।

उच्चशिक्षण संस्थाओं हेतु निर्णय-
कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति में प्रदेश के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए 2 अगस्त 2021 से भौतिक रूप से शिक्षण तथा अध्यापन कालखण्डो में विद्यार्थियों को उपस्थिति का निर्णय लिया गया। जिसके तहत कक्षाओं का संचालन प्रतिदिन 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ किया जाएगा। अर्थात विद्यार्थी अलटरनेट डे कक्षा में उपस्थित होंगे। समस्त संकायों/कक्षाओं के लिए पूर्व से संचालित ऑनलाइन कक्षाएं भी यथावत संचालित रहेंगी। कोविड-19 के सुरक्षा निर्देशों का ध्यान रखा जाएगा।

तकनीकी शिक्षण संस्थाओं के लिये निर्णय-
राज्य के सभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) प्रारंभ होंगे. मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलीटेक्निक भी स्टेप बाई स्टेप खोले जाएंगे। कॉलेजों में विद्यार्थियों की उपस्थिति की अनिवार्यता नहीं है।

स्कूल्स को लेकर महत्वपूर्ण निर्णय
कक्षा 10वीं और 12वीं के कक्षाएं 2 अगस्त 2021 से शुरू होंगी। कक्षाओं का संचालन विद्यार्थियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ किया जाएगा। इसके लिए पालकों की सहमति आवश्यक होगी। यदि कोविड के एक भी प्रकरण नहीं है, ऐसी स्थिति में ग्राम पचायतें पालकों के परामर्श से स्कूलों के संचालन का निर्णय ले सकेंगी। इसी प्रकार शहरी क्षेत्रों में स्कूलों के संचालन के संबंध में स्थानीय पार्षद एवं पालकों की सहमति से निर्णय लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here