जिला मुख्यालय में शीघ्र शुरू होगी पीएससी, नीट और आईआईटी की कोचिंग, बैंकिंग-रेलवे-एसएससी की कोचिंग की सुविधा सभी ब्लाकों में

0
17

– कलेक्टर श्री पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने समय सीमा की बैठक में दिये निर्देश, कहा कि सबसे अच्छी कोचिंग बच्चों को कराएं ताकि रिजल्ट हो बेहतर

दुर्ग 03 जनवरी 2023/ जिला मुख्यालय में शीघ्र ही पीएससी, नीट और आईआईटी की कोचिंग आरंभ हो जाएगी। साथ ही सभी ब्लाक मुख्यालयों में भी बैंकिंग-रेलवे-एसएससी की कोचिंग भी आरंभ होगी। कलेक्टर श्री पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने इस संबंध में निर्देश समीक्षा बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि कोचिंग बढ़िया होनी चाहिए। इसके लिए पूरी गुणवत्ता का ध्यान रखें ताकि रिजल्ट बेहतरीन हो सके। इसके लिए सभी तरह के  संसाधन जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे। बच्चों का बेहतरीन करियर सर्वाेच्च प्राथमिकता है और इसे ध्यान में रखते हुए कोचिंग की मुकम्मल व्यवस्था उपलब्ध कराएं। इसके साथ ही कलेक्टर ने राजीव युवा मितान क्लब की गतिविधियों की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा है कि इस योजना के माध्यम से युवा ऊर्जा को रचनात्मक रूप दिया जाए। इसके लिए नवाचार करें और ऐसी गतिविधियां करें ताकि युवाओं के मनोरंजन के साथ ही उनका ज्ञानवर्धन हो सके। बैठक में अपर कलेक्टर श्रीमती पद्मिनी भोई, श्री अरविंद एक्का, भिलाई निगम आयुक्त श्री रोहित व्यास, सहायक कलेक्टर श्री लक्ष्मण तिवारी सहित अन्य जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
बाजार होंगे व्यवस्थित, व्यापारी एसोसिएशन के साथ मिलकर प्रशासन देगा बेहतर रूप- कलेक्टर ने सभी नगरीय निकायों में बड़े बाजारों को व्यवस्थित करने निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यहां पार्किंग से लेकर सिक्युरिटी तथा साफसफाई की अच्छी व्यवस्था होनी चाहिए। इसमें व्यापारिक एसोसिएशन का सहयोग भी लें। जिन बाजारों में व्यापारी एसोसिएशन नहीं हैं वहां ऐसे एसोसिएशन बनाने के लिए व्यापारियों से चर्चा करने निगम आयुक्तों को कहा। कलेक्टर ने कहा कि बाजार जितने व्यवस्थित होंगे, उससे व्यापारियों को भी लाभ होगा और ग्राहकों को भी सुविधा बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि बाजार में पार्किंग जोन होना आवश्यक है। पब्लिक टायलेट्स हों जिसमें पुरुषों तथा महिलाओं के लिए अलग-अलग टायलेट्स हों। इसके लिए कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने उन्होंने निगम आयुक्तों को कहा। कलेक्टर ने कहा कि सामूहिक भागीदारी से चीजें बहुत बेहतर होंगी। साथ ही साफसफाई का मुद्दा भी है। सब्जी बाजारों आदि में कचरा प्रबंधन के लिए विशेष कार्य करने एवं इसकी निरंतर मानिटरिंग की जरूरत है। साथ  ही इस संबंध में रेसीडेंशियल वेलफेयर संगठनों से भी चर्चा करते रहना जरूरी है।

रीपा का काम जल्दी पूरा करें- कलेक्टर ने रीपा की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि रीपा योजना से रोजगार सृजन की बड़ी संभावनाएं हैं। इसके लिए उद्यमियों से और बेरोजगार युवाओं को आपने तैयार किया है। इसके लिए अधोसंरचना निर्माण तेजी से चल रहा है। इस बीच प्रशिक्षण के लिए या मार्केटिंग के लिए उद्यमियों को तैयार कर लें।

सड़कों का रिपेयर जल्द कर लें पूरा-  कलेक्टर ने सड़कों के रिपेयर की स्थिति की समीक्षा भी की। उन्होंने सभी सड़कों की मरम्मत तय समय में पूरा कर लेने निर्देश दिये। साथ ही इस संबंध में मानिटरिंग कर रहे नोडल अधिकारियों की रिपोर्ट भी ली। कलेक्टर ने इसके साथ ही पूर्व की समीक्षा बैठक में आये विषयों पर भी प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने गौठानों में पैरादान के उपचार के बारे में जानकारी ली और नरवा-गरवा-घुरूवा-बाड़ी तथा राजस्व के प्रकरणों के निपटारे की स्थिति की समीक्षा भी की।
ःः00ःः

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here