दक्षिण बस्तर के सुकमा जिले में राज्योत्सव का हुआ गरिमामय आयोजन

0
13

० मुख्य अतिथि संसदीय सचिव रेखचन्द जैन ने किया राज्योत्सव का शुभारंभ

सुकमा। अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में निरंतर विकास, प्रशासनिक सुविधाओं का विस्तार, अंतिम छोर तक मूलभूूत संसाधनों की पहुँच और ग्रामीणों की स्वयं में आत्मनिर्भरता सुनिश्चित करने शासन का प्रयास विगत तीन-चार वर्षों मेें सफल रहा है। बस्तर क्षेत्र और सुकमा वासियों की मुस्कान इस बात का प्रमाण है कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल और कैबिनेट मंत्री  कवासी लखमा के कुशल मार्गदर्शन से सुकमा जिला विकास के पथ पर अग्रसर है, जिससे निश्चित ही जिलेवासियों के जीवन में सुख, समृद्धि और सम्पन्नता आई है। प्रदेश के मुख्या किसानों और आदिवासियों के दर्द को, उनके जीवन के संघर्ष को भली भाँति जानते है, इसलिए सरकार बनने के बाद सबसे पहला फैसला मुख्यमंत्री  बघेल ने किसान भाईयों के हित में लिया। शाासन की मंशा हमेशा से ही आदिवासी जनता और उनके संस्कृति व परम्परा का संरक्षण, संवर्धन और विकास रहा है, जिसके लिए निरंतर आदिवासी हित में नीतियाँ बनाई जा रही है। गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के साथ ही गढ़बो नवा बस्तर और गढ़बो नवा सुकमा के संकल्प को पूरा करने का काम किया जा रहा है।
आज छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर सुकमा के मिनी स्टेडियम में आयोजित राज्योत्सव कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  रेखचंद जैन, संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन ने सुकमावासियों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए यह बाते कहीं। उन्होंने कहा की आज प्रदेश में 65 प्रकार के लघु वनोपज की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा रहीं है, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 4 हजार रुपए प्रति मानक बोरे का पारिश्रमिक दिया जा रहा है। सुकमा जैसे अतिसंवेदनशील क्षेत्र में निवास करने वाली जनता की मांग को पूरा करने के लिए शासन संकल्पित होकर कार्य कर रहा है, जिसके फलस्वरुप आज यहाँ बेहतर शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य, बेहतर सड़क, वनोपज का सही दाम, मूलभत सुविधाओं का लाभ वनवासियों को मिल रहा हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसानों को खुशहाल बनाने लगातार कार्य कर रही है जिसके कारण किसान व उनके परिवार के चेहरे में खुशी साफ देखी जा सकती है।
विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए प्रदर्शनी का किया अवलोकन
मिनी स्टेडियम सुकमा में आयोजित कार्यक्रम में  रेखचन्द जैन ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए प्रदर्शनी का अवलोकन किया और कहा कि शासन की जनहितैषी योजनाओं का लाभ अधिकाधिक लोगों को मिल रहा है। इस दौरान उन्होंने वन विभाग, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत विभाग, आदिवासी विकास विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, मत्स्य विभाग, नगरीय प्रशासन विभाग, जिला अग्रणी बैंक, राजीव युवा मितान क्लब योजना, जिला कौशल विकास प्राधिकरण, क्रेडा, उद्यानिकी विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, पुलिस विभाग द्वारा शासकीय योजनाओं के प्रचार और उपलब्धियों को दर्शाने लगाई गई प्रदर्शनी के साथ ही जनसम्पर्क विभाग द्वारा लगाए गए फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
इस दौरान कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिला पंचायत अध्यक्ष  हरीश कवासी, सुकमा नगर पालिका अध्यक्ष  जगन्नाथ साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं कलेक्टर  हरिस. एस व अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
गांव-गांव में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ-  हरीश कवासी
सुकमा वासियों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई देते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष  हरीश कवासी ने कहा कि विगत लगभग चार वर्षों में अंदरूनी क्षेत्रों में भी विकास का मार्ग प्रशस्त हुआ है। गांव-गांव में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल रहा है। बस्तर की परम्परा, आस्था और संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए देवगुड़ी का विकास किया जा रहा है। यह सब मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के कुशल मार्गदर्शन ने साकार किया है। उन्होंने कहा कि सुकमा क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं का विस्तार हुआ है, जिन जगहों पर डॉक्टर नहीं पहुँच पाते थे, शिक्षक नहीं पहुँच पाते थे, आज वहाँ अस्पताल का निर्माण कर लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो रही है, स्कूलों की स्थापना से बच्चों को शिक्षा मिल रही है। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ जीव-जंतु बोर्ड के सदस्य  करण देव और नगर पालिका सुकमा के अध्यक्ष  राजू साहू ने अपने विचार व्यक्त करते हुए सभी को छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस की बधाई व शुभकामनाएं दी।
शासन की मंशानुरुप, जिलेवासियों के विकास के लिए जिला प्रशासन कर रही कार्य-कलेक्टर
कलेक्टर हरिस. एस ने अपने संबोधन में कहा कि शासन की मंशानुरुप, जिलेवासियों के विकास के लिए जिला प्रशासन कार्य कर रही है। जिला प्रशासन अंतिम व्यक्ति व अंतिम लक्ष्य  तक पहुंचने का संकल्प लेते हुए अपने उद्देश्यों को पूरा करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here